Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

नमस्कार दोस्तों, आज हम इस पोस्ट में राजस्थान के रहस्यमयी गाँव कुलधरा के बारे में (Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan) बात करने वाले हैं|

दुनियाभर में कई ऐसी जगह हैं, जो अपने दामन में कई रहस्यमयी घटनाओं को समेटे हुए हैं, उन जगहों में राजस्थान के जैसलमेर जिले के एक गाँव कुलधरा का नाम भी आता है। यह गांव पिछले लगभग 170 सालों से वीरान पड़ा हैं।

भारत की पारंपरिक जमीन में कई ऐसे राज दफ्न हैं जो कई वर्षों या कहें सदियों बाद आज भी उसी तरह ताजा और अनसुलझे हैं जितने पहले कभी हुआ करते थे। ये रहस्य कुछ ऐसे हैं जिन्हें जितना सुलझाने की कोशिश होती है ये उतने ही उलझते जाते हैं।

आपने भूतों वाली जगहों के बारे में बहुत सुना और देखा भी होगा लेकिन आज हम आपको ऐसी जगह के बारे में बताएंगे जहां पूरा का पूरा गाँव ही भूतिया है |

लोगों का मानना है कि यहाँ गांव के कुछ मकान ऐसे भी हैं जहां रहस्यमयी परछाईयां अक्सर नजरों के सामने आ जाती है। दिन की रोशनी में यहाँ सबकुछ इतिहास की किसी पुरानी कहानी जैसा लगता है, लेकिन शाम ढलते ही कुलधरा के दरवाजे बंद हो जाते हैं और फिर यहाँ दिखाई देता है रूहानी ताकतों का एक रहस्यमय संसार। लोगों का कहना है, कि रात के वक्त यहां जो भी आया वो हादसे का शिकार हो गया।

Also Read: Top 10 Tourist Places Of Udaipur In Hindi

Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

Kuldhara Village History In Hindi
Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

इस गाँव में अमीर ओर सक्षम ब्राह्मणों का बसेरा था | कुलधरा गाँव पूर्ण रूप से वैज्ञानिक दृष्टिकोण के अनुसार बसाया गया था| ईंट और पत्थर कि सहायता से बने इस गाँव की बनावट ऐसी थी कि इस गाँव में कभी गर्मी का अहसास नहीं होता था जबकि यह गाँव राजस्थान के रेगिस्तान में स्थित है |

घरों के नक़्शे इस प्रकार से डिजाईन किये गए कि हवाएं सीधे घर से प्रवेश करके निकलती थी इस कारण ये घर रेगिस्तान में भी वातानुकूलन का अहसास देते थे | सभी घरों के अन्दर पानी के कुंड, ताक़, घर कि सीढियाँ भी विशेष थी तथा सभी घर के जरोखे एक-दुसरे से जुड़े हुए थे जिस कारण एक-दुसरे की बात आसानी से पहुंचाई जा सकती थी |

ये ही नहीं पालीवाल ब्राह्मणों की वैज्ञानिक दृष्टिकोण का यहीं से पता चलता है कि उस समय जब वो पाली से जैसलमेर आ कर बसे तब उन्होंने अपना गाँव एसी जगह बसाया जहाँ रेगिस्तान होने के बावजूद वो खेती करने में सक्षम हो पाए |

Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

उन्होंने अपना गाँव एसी जगह बसाया जहाँ जमीन में जिप्सम कि मात्रा बहुत ज्यादा थी जिस कारण वहाँ कि जमीन पानी को अन्दर नहीं सोख पाती थी तथा इससे पानी को एकत्रित करके वो खेती करने में सक्षम हो पाए |अपने समय में जल प्रबंधन की इस महान खोज के कारण ही उन्होंने अच्छी खेती की तथा अपने क्षेत्र में सबसे समृद्ध बने |

रियासत के दीवान की पड़ी बुरी नजर

दरअसल, कुलधरा की कहानी शुरू हुई थी आज से करीब 200 साल पहले, जब यह खंडहर में नहीं तब्दील हुआ था। कहा जाता है कि यहां कुलधरा के आसपास के लगभग 84 गांव पालीवाल ब्राह्मणों से आबाद हुआ करते थे, लेकिन फिर कुलधरा को किसी की बुरी नजर लग गई ओर ये गाँव पूरा खंडहर में तब्दील हो गया| जिस कि नज़र लगी वो शख्स था इस रियासत का दीवान सालम सिंह

Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

गांव के मुखिया की बेटी पर सालम सिंह की बुरी नजर पड़ी और वो उस खूबसूरत लड़की को किसी भी किम्मत पर पाना चाहता था| वो लड़की सालम सिंह की जिद बन गई। सालम सिंह ने उस लड़की से शादी करने के लिए गांव के लोगों को कुछ दिनों की मोहलत दी ओर धमकी दी कि अगर उसने कहा वैसा नहीं किया गया तो, गाँव वालों पर अनेक प्रकार के कर लगा दिए जायेंगे तथा लोगों को परेशान किया जायेगा|

पांच हजार परिवारों ने छोड़ दी रियासत

ये लड़ाई अब गांव की एक कुंवारी लड़की के सम्मान और गांव के आत्मसम्मान की थी। गांव की चौपाल पर पालीवाल ब्राह्मणों की बैठक हुई और 5000 से ज्यादा परिवारों ने अपने सम्मान के लिए इस रियासत को छोड़ने का फैसला ले लिया। अगली शाम कुलधरा कुछ यूं वीरान हुआ कि आज परिंदे भी उस गांव की सरहदों में दाखिल नहीं होते।

रूहानी ताकतों के कब्जे में है गांव

कहते हैं कि पालीवाल ब्राह्मणों ने रातों-रात इस गाँव को छोड़ दिया तथा गांव छोड़ते वक्त उन ब्राह्मणों ने इस जगह को श्राप दिया था कि उनके बाद इस गाँव में कोई नहीं बस पायेगा। रातों-रात लोगों के गायब होने के बाद उन लोगों का क्या हुआ तथा वो कहाँ गए इस रहस्य से आज तक पर्दा नहीं उठ पाया है |

उस रात के बाद वो लोग कहाँ गायब हो गए किसी को कुछ पता नहीं| ओर वो गहरा राज आज भी दुनियाँ के लिए एक बहुत बड़ा रहस्य अपने अन्दर छुपाये हुए है | तब से आज तक ये वीरान गांव रूहानी ताकतों के कब्जे में है, जो अक्सर यहां आने वालों को अपनी मौजूदगी का अहसास भी कराती हैं। इस गांव में एक मंदिर है और एक बावड़ी है, जो आज भी श्राप से मुक्त है।

Kuldhara Village History In Hindi
Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

बताया जाता है कि शाम ढलने के बाद अक्सर यहां कुछ आवाजें सुनाई देती हैं। लोग मानते हैं कि वो आवाज 18वीं सदी का वो दर्द है, जिनसे पालीवाल ब्राह्मण गुजरे थे।

स्थानीय लोगों कि मानें तो बाद में वहां पर कुछ लोगों ने बसने की कोशिश भी की थी लेकिन वो सफल नहीं हो पाए| लोगों को मानना है कि वहाँ पर हर समय एसा लगता है कि लोग वहाँ पर आसपास घूम रहे हैं तथा महिलाओं के आपस में बात करने की आवाजें आती रहती है तथा डरावनी आवाज़ें सुनाई देती रहती है |

Kuldhara की वर्तमान स्थिति

कुलधरा गाँव अब अब भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा अनुरक्षित एक ऐतिहासिक स्थल है, जिसकी वजह से अब पर्यटक इस जगह की यात्रा कर सकते हैं और चारों तरफ घूम कर इस बात का अंदाजा भी लगा सकते हैं कि यह गाँव पहले कैसा हुआ करता था। कुलधरा गाँव एक विशाल क्षेत्र में फैला हुआ है जिसमें लगभग 100 से ज्यादा आवास शामिल हैं।

Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan
Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

इस गाँव (Kuldhara) में कुछ ईंटों की संरचनाओं को छोड़ गांव के सभी घर टूटे हुए हैं, जो अब खंडहर में तब्दील हो चुके है लेकिन आज भी उनके टूटे हुए अंश गाँव में मौजूद है | वे खंडहर अपना इतिहास बयां करते हुए दिखाई पड़ते है | यहाँ एक पुराना मंदिर भी है जिसके अंदर कई शिलालेख मौजूद हैं।

कुलधरा के इस मंदिर में मौजूद इन प्राचीन शिलालेखों ने पुरातत्वविदों को कुलधरा और इसके प्राचीन निवासियों के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारी इकट्ठा करने में मदद की है। कुलधरा गाँव उन लोगों के लिए स्वर्ग के समान है जो अपनी यात्रा के दौरान भारत के खास अनुभवों की तलाश में रहते हैं और इतिहास के बारे में जानने की रूचि रखते हैं।

तथा उन लोगों के लिए भी महत्वपूर्ण स्थान है, जो Photography तथा Videography करने में interested होते है | यहाँ आकर वो short film की shooting आसानी से कर सकते हैं|

अभी पर्यटन विभाग ने वहाँ पर गाँव के शुरुआत में एक दो भवन का निर्माण कराया हुआ है ताकि लोगों को पता चल सके कि पहले कैसे मकान थे वहाँ पर बाकि पूरा गाँव आज भी वीरान पड़ा हुआ है, सभी मकान अब खँडहर में तब्दील हो चुके है |

Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

How to Reach kuldhara village, Rajasthan कुलधरा कैसे पहुंचे

Kuldhara village राजस्थान के जैसलमेर शहर से लगभग 18 से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जैसलमेर पहुँच कर आसानी से यहाँ पर Taxi कि सहायता से भी पहुंचा जा सकता है |

Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan
Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

How To Reach Kuldhara Village By Aeroplane In Hindi कुलधरा गाँव हवाई जहाज से कैसे पहुँचे

यदि आप Aeroplane से Kuldhara पहुंचना चाहते हैं तो जैसलमेर हवाई अड्डा इस गांव से मात्र 22 किलोमीटर की दूरी पर हैं और यह हवाई अड्डा Mumbai, Delhi और Banglore से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां के लिए दूसरा विकल्प Jodhpur Air Port है, जो कि यहाँ से लगभग 285 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है ।

How To Reach Kuldhara Village By Road In Hindi कुलधरा गाँव सड़क मार्ग से कैसे पहुँचे

यदि आप कुलधरा गांव सड़क मार्ग की सहायता से जाना चाहते हैं तो राजस्थान राज्य सड़क परिवहन निगम द्वारा नियमित रूप से चलने वाली बसों के माध्यम से आप Kuldhara तक आसानी से पहुँच जायेंगे।

How To Reach Kuldhara Village By Train In Hindi कुलधरा गाँव ट्रेन से कैसे पहुँचे

Kuldhara Village से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर जैसलमेर का रेल्वे स्टेशन है। यह स्टेशन दिल्ली, मुंबई और बैंगलोर सहित देश के अन्य प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ हैं।

Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan

Conclusion On Kuldhara Village History In Hindi

इस तरह हम कह सकते हैं कि भारत में कई एसी जगह है जो आज भी राज बनी हुई है | इन जगहों की पहेली कितनी भी सुलजाने कि कोशिश कि जाये लेकिन सुलजती ही नहीं है|ओर वो राज हमेशा राज ही बना रहता है, कुलधरा भी उसी का एक उदहारण है|

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट Kuldhara Village History In Hindi, Kuldhara Haunted Village In Rajasthan पसंद आया होगा| आप अपने विचार comment box में जरूर लिखें तथा अपने दोस्तों के साथ इस interesting history को social media button कि सहायता से share करें|

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *