history of camera in hindi

नमस्कार दोस्तों, आज हम इस आर्टिकल History Of Camera In Hindi में camera के इतिहास के बारे में बताएँगे, कि कैसे camera कि उत्पति हुई तथा कैसे camera में नए Upgrades आये | इसी के साथ camera कि पूरी History History Of Camera In Hindi के बारे में भी जानेंगे |

History Of Camera In Hindi

आप सभी अपनी प्रतिदिन अपनी दिनचर्या में फोटो तो जरूर खींचते होंगे फिर चाहे वह स्मार्टफोन से हो या camera से। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की यह कैमरा जो आप आज बड़ी आसानी से इस्तेमाल करते हो ये आया कहाँ से है या फिर इस camera को किसने बनाया है या फिर इस कैमरा को बनाने के पीछे का इतिहास (history of camera in hindi) क्या है ?

अगर आप नहीं जानते हो तो इस आर्टिकल को पढ़ें, क्योकि इसमें आपको history of camera in Hindi के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं | Camera कि खोज की कैसे तथा कहाँ से शुरुआत हुई थी और आज जो camera आपके हाथों में है चाहे Camera या फिर Smartphone के रूप में , वह कैसे विकसित हो कर आया है।

Importance Of Camera In Hindi

आज Camera हर इन्सान की जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन चुका है, Camera के बिना किसी भी त्यौहार, Events, Marriage, या किसी भी यादगार पल अधुरा है, camera कि मदद से हर उन यादगार पलों को संजो कर रखा जा सकता है वो भी हमेशा हमेशा के लिए| इसलिए Camera हमारे लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण बन चूका है |

आज हम पूरी तरह से फोटोग्राफी के आदी हो चुके है, जहाँ पर भी जाते है, वहाँ पर हम smartphone हो या फिर Camera , इनकी मदद से Photography करने लग जाते हैं | या फिर सेल्फी लेने लग जाते हैं, यह सब सिर्फ camera कि वजह से ही संभव हुआ है | Photography कि मदद से हम अपने यादगार पलों को हमेशा के लिए संजो कर साथ लाते है |

पूरी फिल्म इंडस्ट्री से लेकर न्यूज़, मीडिया सभी camera पर ही निर्भर है | कुल मिलाकर अब यह कहा जा सकता है कि camera के बिना कल्पना करना बहुत मुश्किल है |अगर आप नहीं जानते कि कैमरा की शुरुआत कैसे हुई और इसे किसने बनाया, तो इसके लिए पढ़िए ये पूरा आर्टिकल –

History of camera कैमरा का इतिहास

कैमरा के इतिहास को समझने के लिए हमें सबसे पहले कैमरा के सिद्धांत को समझना होगा, कि camera कम कैसे करता है | कैमरा एक सिद्धांत पर काम करता है जिसे Camera Obscura कहते है। यह एक latin भाषा का शब्द है जिसका मतलब है, dark chamber मतलब अंधेरे वाला कमरा। अब आप यह सोच रहे होंगे की यह camera obscura होता क्या है और यह वास्तव में काम कैसे करता है? तो आइये सबसे पहले हम इसी के बारे में बात करेंगे।

Camera Obscura क्या है?

दरअसल Camera Obscura एक optical device होता है, जिससे पहले के समय में फोटो को खिंचा जाता था। Camera Obscura में एक बड़ा कमरे के बराबर बॉक्स होता है और उस बॉक्स में एक छोटा सा छेद होता है, जिसकी सहायता से बाहर से प्रकाश इस छेद में जाता है और फिर बॉक्स की दिवार से टकराता है। इससे बाहर का दृश्य अंदर पीछे वाली दीवार पर बन जाता है और अंदर बैठा व्यक्ति उस Picture को पेपर पर trace कर लेता है।

history of camera in hindi
pinhole camera how it works diagram (
History Of Camera In Hindi)
source: www.rimstar.org/

Camera Obscura में सबसे बड़ी दिक्कत यह आती थी की इससे जो Picture दीवार पर बनती थी वह Picture एक दम उल्टी बनती थी।

ये Diagram, Camera Obscura का एक उदहारण है, जिसमे दिख रहा है कि कैसे Camera Obscura हकीकत में काम करता था जिससे Picture यानि कि प्रतिबिम्ब पूर्णतः उल्टा बनता था |

Camera Obscura में आने वाली इस बड़ी समस्या का हल 18वी शताब्दी में निकाल दिया गया। 18वी शताब्दी में Camera Obscura में एक शीशे का इस्तेमाल करने लग गए थे जिससे उल्टा बनने वाला प्रतिबिम्ब सही बनने लग गया |

History Of Camera In Hindi

History Of Camera In Hindi
Camera Obscura box 18thCentury , source: wikipedia

History Of Camera Obscura In Hindi

Camera Obscura का सबसे पहला लिखा हुआ रिकॉर्ड Mozi (470 से 390 ईसा पूर्व) के लेखन में पाया गया है| Mozi एक चीनी philosopher और mohism के संस्थापक है। Mozi ने अपने लेख में सही ढंग बताया है कि कैसे Camera Obscura में छवि उलटी हो जाती है |

इन्होंने Picture के उल्टे होने के पीछे भी एक तर्क दिया कि प्रकाश अपने स्रोत से सीधी रेखा में गमन करता है तथा जैसे ही पिनहोल छोटा किया जाता है, Picture तो sharp हो जाती है पर दीवार पर बनने वाली Picture या प्रतिबिम्ब धुंधला हो जाता है |

इसके बाद इराकी वैज्ञानिक Ibn al-Haytham ने पहला Camera Obscura बनाया। सन 1490 में Leonardo Da Vinci ने भी Image ट्रेस करने का तरीका खोजा था।

Also Read: Success Story Of Tata Group In Hindi

कैमरा का इतिहास – History Of Camera in Hindi

बदलते युग के साथ कैमरे के आकार और मॉडल भी बदलते गए और आज नई मॉडर्न तकनीक से लैस अलग-अलग तरीके के कैमरे बाजार में उपलब्ध हैं, यहीं नहीं आज कैमरे मोबाइल के साथ-साथ कई डिवाइसेस में भी उपलब्ध हैं।

First Camera Of World दुनियाँ का पहला कैमरा

18वीं सदीं में इमेज को ट्रेस करने के लिए कैमरा अबस्कर का इस्तेमाल होने लगा। पहले कैमरा लगभग कमरे जितना बड़ा बॉक्स के सामान होता था | साल 1816 में निप्से ने कैमरा इमेज से पहली फोटोग्राफ निकाली थी।

इसके कई सालों की गहन रिसर्च के बाद सन 1826 में सर जोसेफ (Joseph Nicephore Niepce) कैमरा बनाने में सफल हुए। ये कैमरा किसी भी इमेज को कैप्चर करने में लगभग 8 घंटे तक का समय लेता था, जो कि बहुत ज्यादा होता था |

Evolution in camera – कैमरा में बदलाव

समय के साथ camera में बहुत से बदलाव किये गए, समय के साथ नए-नए आविष्कार हुए जिसके कारन camera के कार्य करने कि क्षमता तथा camera के आकार में भी बदलाव किये गए |अब हम इस आर्टिकल History Of Camera In Hindi में camera के बारे में विस्तार से जानेंगे- History Of Camera In Hindi

डैगुरियोटाइप का इस्तेमाल

इसके बाद सन 1839 में लुइस डैगुरे ने प्रैक्टिकल फोटोग्राफिक प्रोसेस बनाया, जिसको डैगुरियोटाइप नाम दिया था।

DAGUERREOTYPE CAMERA (1839)
DAGUERREOTYPE CAMERA (1839)
source:fotovoyage.com

कैलोटाइप्स का इस्तेमाल

सन 1840 में हैनरी फॉक्स ने कैलोटाइप्स नाम की एक नई प्रोसेस विकसित की, जिसकी मद्द से एक ही पिक्चर की बहुत सारी प्रतियां बनाईं जा सकती थी।

calotype camera
calotype camera
source:ssplprints.com

पेपर फिल्म का इस्तेमाल – Paper Film Camera

इसके बाद सन 1885 में George Eastman ने पेपर फिल्म बनाने के कार्य की शुरुआत की। जिसे काम में लेना बहुत ही सरल और काफी आसान था। इसके बाद सन 1888 में George Eastman ने Kodak नाम कि एक कंपनी खोली ।

Importance of Paper Film Camera

इस कैमरे में लगाई गई पेपर फिल्म के माध्यम से 100 फोटोज आसानी से क्लिक किए जा सकते थे, और पेपर फिल्म खत्म होने पर फिल्म को बदला जा सकता था।

सैलुलेट फिल्म का इस्तेमाल

इसके बाद जॉर्ज इस्टमैन ने सैलुलेट फिल्म का प्रोडक्शन शुरु किया, जिससे कैमरा काम में लेना और ज्यादा आसान हुआ और इसके बाद इस खोज सके कारण सबसेबड़ा फायदा यह था कि इसमें फिल्म को बार-बार बदलने की समस्या भी ख़त्म हो गई।

इन सभी बदलावों के बाद Kodak कंपनी बहुत Famous हुई तथा लगभग पूरी दुनियाँ में इसके कैमरे दिखने लग गए |

history of camera in hindi
kodak 1908
source:upstatestudio.com

History Of Camera In Hindi

TLR और SLR – TLR and SLR

पुनः कई सालों कि रिसर्च के बाद सन 1928 में पहला रिफ्लैक्स कैमरा TLR के रूप में आया, जो उस समय लोगों के बीच काफी Popular हो गया था। इसके बाद सन 1933 में SLR का डिजाइन बनाना शुरु किया गया, जिसमें 127 रॉलफिल्म लगी हुई थीं। 3 साल बाद सन 1936 में 135 फिल्म्स के साथ एक नया मॉडल बनाया गया।

tlr camera History Of Camera In Hindi कैमरा का इतिहास
yashica 44 TLR Camera 1958
source: pinterest.com

फिर camera में updates करने तथा गुणवता सुधारने के प्रयास किये गए ओर सन 1954 में जापान की कंपनी Asahi ने सबसे पहले एक SLR कैमरा बनाने में सफलता हासिल कर ली, ये camera इमेज में किसी भी व्यक्ति, वस्तु या ऑब्जेक्ट को आसानी से फोकस कर सकता था, जो कि उस समय के लिए बहुत बड़ा बदलाव था camera में |History Of Camera In Hindi

1949 56 Retina IIa 35mm Camera History Of Camera In Hindi कैमरा का इतिहास

ड्राइ प्लेट्स एवं पोलारॉइड कैमरा – Dry Plates And Polaroid Camera

सन 1855 में ड्राइ प्लेट्स का इस्तेमाल होने लगा तथा कैमरों के साइज को भी छोटा करने पर कम किया गया | जिस कारण camera कि साइज़ छोटी हुई, जिस कारण ये कैमरे आसानी से कहीं पर भी लगाये जा सकते थे | इससे बाद में डिटेक्टिव कैमरा का भी अविष्कार किया जाने लगा।

तथा सन 1948 में एडविन लैंड के द्धारा बनाया हुआ एक नया कैमरा भी विकसित किया गया, जिसमें काफी कम समय में पिक्चर्स निकल जाते थे।

cam 355 History Of Camera In Hindi कैमरा का इतिहास
Polaroid Automatic 100
source: polamad.com

Also Read: Success Story OF Hero Motocorp In Hindi

History Of Camera In Hindi

आधुनिक डिजिटल कैमरा – Digital Camera

कोडक कंपनी के ही इंजीनियर स्टीवन सैसन (Steaven Sasson) ने सन 1975 में पहला Digital Camera बनाया, जो कि पहले बने सभी कैमरों से अलग था। इसमें फिल्म का इस्तेमाल नहीं होता था।

जो Digital Camera सबसे पहले आया था उसमे Camera का Resolution लगभग 0.1 Mega Pixel का था और इसका वजन करीबन 4 किलोग्राम तक था, इस कैमरे से जो भी Pictures ली जाती थी, वो पहले कैसेट्स में सेव होती थी और फिर इन्हें टीवी में भी देखा जा सकता था।

समय के साथ ओर भी बहुत से बदलाव हुए तथा इनमें आधुनिक Features जोड़े गए जैसे- WIFI, Bluetooth, आदि से फोटो को शेयर करने की सुविधा दी जाने लगी। लेकिन आधुनिक कैमरा कि जनक कही जाने वाली Kodak कंपनी ने उस समय Digital Camera में दिलचस्पी नहीं दिखाई |

DSLR Camera – डीएसएलआर कैमरा

इसके बाद साल 1989 में जापान की कंपनी निकॉन (Nikon) ने DSLR कैमरा लॉन्च कर दिया| जिसके बाद इसे लोगों ने खूब पसंद किया ।

और इसके बाद कई मॉडर्न तकनीक के साथ नए-नए DSLR कैमरे बनने लग गए। DSLR कैमरे का use टीवी, फिल्मों आदि में किया जाने लगा। डिजिटल कैमरा में कम लागत की वजह से इनका इस्तेमाल मोबाइल फोन में भी किया जाने लग गया।

history of camera in hindi
DSLR CAMERA
(History Of Camera In Hindi)
SOURCE: ephotozine.com

इसी दौरान सन 2000 में Sharp नाम की एक कंपनी ने जापान में दुनिया का पहला कैमरा वाला फोन बना दिया। सन 2003 में इलैक्ट्रॉनिक कंपनी Sony Ericsson ने सबसे पहले फ्रंट कैमरा वाला फोन लॉन्च किया जिससे सेल्फी ली जा सकती थी, इसके बाद तो High Resolutions के कई कैमरे तथा फ़ोन लॉन्च किए गए तथा एक के बाद एक camera लॉन्च हुए ओर इनकी गुणवता सुधरती गई |

History Of Camera In Hindi

Click here For Buying Nikon Dslr Camera –

Click Here For Buying Canon Dslr Camera –

History Of Camera In Hindi

आपको camera की history के बारे में हमारा यह आर्टिकल History Of Camera In Hindi कैसा लगा comment करके बताएं तथा अगर आपको ये आर्टिकल History Of Camera In Hindi अच्छा लगा हो तो जरुर शेयर करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *