google search console logo Google Search Console In Hindi - Google Search Console Kya hai

नमस्कार दोस्तों, हम इस पोस्ट Google Search Console In Hindi में Google Search Console क्या है तथा Google Search Console In Hindi कैसे काम करता है तथा what is google search console in hindi के बारे में विस्तार से बात करेंगे|

चलिये बिना किसी देर के शुरू करते हैं, Google Search Console In Hindi

Google Search Console एक फ्री tool है जिससे हम अपनी वेबसाइट पर आने वाले users के बारे में बेहतर जान सकते हैं जैसे – Google में किसी keyword को सर्च करने पर हमारी website को कितनी बार क्लिक किया गया, किसी keyword पर हमारी website की average rank क्या है, हमारे कितने post Google में index हो चुके हैं इत्यादि।

Google Search Console In Hindi

Search Console के बारे में जानकारी

Google Search Console In Hindi

Google की मुफ़्त सेवा, Google Search Console की मदद से आप अपनी साइट के प्रदर्शन पर नज़र रख सकते हैं और इसका रखरखाव कर सकते हैं. साथ ही, इसके ज़रिए आप Google के खोज नतीजों में अपनी साइट के दिखने में हो रही समस्याएं हल कर सकते हैं. अपनी साइट को Google के खोज नतीजों में दिखाए जाने के लिए, Search Console में साइन अप करना ज़रूरी नहीं है. हालांकि, Search Console से आपको यह समझने में मदद मिलती है कि Google आपकी साइट को कैसे देखता है. साथ ही, इसके ज़रिए आप खोज नतीजों में दिखाने के लिए अपनी साइट को बेहतर बना सकते हैं.

नीचे दी गईं चीज़ों के लिए आप Search Console में दिए गए टूल और रिपोर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं:

  • इस बात की पुष्टि करने के लिए कि Google आपकी साइट को ढूंढ सकता है और उसे क्रॉल कर सकता है.
  • साइट को इंडेक्स करने में हो रही समस्याओं को ठीक करने और नई या अपडेट की गई सामग्री काे फिर से इंडेक्स करने का अनुराेध करने के लिए.
  • ‘Google सर्च’ के ज़रिए साइट पर अाने वाले ट्रैफ़िक का डेटा देखने के लिए: इसमें ‘Google सर्च’ में आपकी साइट कितनी बार दिखाई जाती है, खाेज की किस क्वेरी के जवाब में आपकी साइट दिखाई जाती है, उपयोगकर्ता कितनी बार इन खोज नतीजों के ज़रिए आपकी साइट पर क्लिक करते हैं और कई दूसरी चीज़ों का डेटा शामिल होता है.
  • Google को आपकी साइट इंडेक्स करने में मिली, स्पैम से जुड़ी, और दूसरी समस्याओं के बारे में सूचना पाने के लिए.
  • आपकी साइट का लिंक देने वाली वेबसाइटों की जानकारी पाने के लिए.
  • एएमपी, माेबाइल पर साइट के इस्तेमाल, और ‘सर्च’ की दूसरी सुविधाओं से जुड़ी समस्याओं काे हल करना.

Google Adsense In Hindi

Search Console का इस्तेमाल किसे करना चाहिए?

Google Search Console In Hindi - Google Search Console Kya hai
Google Search Console In Hindi – Google Search Console Kya hai

कोई भी व्यक्ति जिसके पास वेबसाइट है! सामान्य उपयोगकर्ता से लेकर विशेषज्ञ तक और नए से लेकर अनुभवी उपयोगकर्ता तक, Search Console सभी की मदद कर सकता है.

Google Search Console In Hindi

  • काराेबारी: भले ही, आप खुद Search Console का इस्तेमाल न करने वाले हों, लेकिन आपको इसके बारे में पता होना चाहिए. साथ ही, आपको ‘सर्च इंजन’ के लिए अपनी साइट को बेहतर बनाने की बुनियादी बाताें की जानकारी होनी चाहिए और ‘Google सर्च’ की सुविधाओं के बारे में भी पता होना चाहिए.
  • एसईओ के विशेषज्ञ या मार्केटर: अगर आप ऑनलाइन मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करते हैं, तो वेबसाइट के ट्रैफ़िक पर नज़र रखने और साइट की रैंक को बेहतर बनाने में Search Console आपकी मदद करेगा. साथ ही, खोज नतीजों में आपकी साइट कैसी दिखाई देगी, इस बारे में बेहतर फ़ैसले लेने में भी आपको मदद मिलेगी. Search Console में दी गई जानकारी का इस्तेमाल करके आप वेबसाइट के लिए तकनीकी फ़ैसले ले सकते हैं. साथ ही, Analytics, Google रुझान और Google Ads जैसे Google के दूसरे टूल के साथ इस जानकारी का इस्तेमाल करके, आप मार्केटिंग के बारे में बारीकी से आकलन कर सकते हैं.
  • साइट के एडमिन: साइट के एडमिन के तौर पर आप चाहते हैं कि आपकी साइट बेहतर ढंग से काम करती रहे. Search Console के ज़रिए आप सर्वर की गड़बड़ियों, साइट लोड होने में हो रही समस्याओं के साथ ही, साइट हैक होने और मैलवेयर जैसी सुरक्षा से जुड़ी समस्याओं पर नज़र रख सकते हैं. कुछ मामलों में आप इन समस्याओं को हल भी कर सकते हैं. इसका इस्तेमाल करके आप यह देख सकते हैं कि जब आप अपनी साइट का रखरखाव या उसमें कोई बदलाव करें, तो वे बिना किसी परेशानी के हो जाएं. साथ ही, इनकी वजह से खोज नतीजों में आपकी साइट के प्रदर्शन पर कोई बुरा असर न हो.
  • वेब डेवलपर: अगर आप अपनी साइट के लिए खुद मार्कअप और/या कोड बना रहे हैं, तो आप Search Console इस्तेमाल करके मार्कअप में आम तौर पर होने वाली समस्याओं पर नज़र रख सकते हैं और उन्हें हल कर सकते है. इन समस्याओं में स्ट्रक्चर्ड डेटा में होने वाली गड़बड़ियां जैसी समस्याएं शामिल हैं. Google Search Console In Hindi
Google Search Console In Hindi - Google Search Console Kya hai
Google Search Console In Hindi – Google Search Console Kya hai

वेबसाइट प्रॉपर्टी जोड़ना

अपने Search Console खाते में वेबसाइट प्रॉपर्टी जोड़ने के लिए यह तरीका अपनाएं. ध्यान दें कि Search Console खाते में कोई साइट जोड़ने के लिए, आपको साबित करना होगा कि साइट (या साइट के जोड़े जा रहे हिस्से) का मालिकाना हक आपके पास है. आप ऐसी प्रॉपर्टी बना सकते हैं जिसमें पूरा डोमेन (example.com) या डोमेन का एक हिस्सा (example.com/clothing) शामिल हो.

image 9 Google Search Console In Hindi - Google Search Console Kya hai
Google Search Console In Hindi – Google Search Console Kya hai

सामग्री:

  • वेबसाइट प्रॉपर्टी के प्रकार
  • नई प्रॉपर्टी जोड़ना
  • किसी प्रॉपर्टी को फिर से जोड़ना

Google Search Console In Hindi

वेबसाइट प्रॉपर्टी के प्रकार

Search Console पर नीचे दिए गए इन वेबसाइट प्रॉपर्टी के प्रकार का इस्तेमाल किया जा सकता है: Google Search Console In Hindi – Google Search Console Kya hai

 यूआरएल-प्रीफ़िक्स प्रॉपर्टीडोमेन प्रॉपर्टी
जानकारीइसमें सिर्फ़ वे यूआरएल शामिल होते हैं, जिनमें तय किया गया सटीक प्रीफ़िक्स शामिल हो. साथ ही, सभी यूआरएल का प्रोटोकॉल (http/https) भी तय प्रीफ़िक्स वाला ही होना चाहिए. अगर आप चाहते हैं कि आपकी प्रॉपर्टी में किसी भी प्रोटोकॉल या सब-डोमेन (जैसे http/https/www./m.) के यूआरएल शामिल हों, तो आपको यूआरएल-प्रीफ़िक्स प्रॉपर्टी जोड़ने के बजाय डोमेन प्रॉपर्टी जोड़नी चाहिए. ज़्यादा जानकारी देखें.डोमेन स्तर की प्रॉपर्टी जिसमें सभी तरह के सब-डोमेन (m, www वगैरह) और एक से ज़्यादा प्रोटोकॉल (http, https) के यूआरएल शामिल होते हैं. ज़्यादा जानकारी देखें.
पुष्टिकई तरीकों से की जा सकती हैसिर्फ़ डीएनएस रिकॉर्ड से पुष्टि की जा सकती है
उदाहरणप्रॉपर्टी http://example.com✔ http://example.com/dresses/1234
🅧 https://example.com/dresses/1234 – https मेल नहीं खाता
🅧 http://www.example.com/dresses/1234 – www. मेल नहीं खाता
प्रॉपर्टी example.com✔ http://example.com/dresses/1234
✔ https://example.com/dresses/1234
✔ http://www.example.com/dresses/1234
✔ http://support.m.example.com/dresses/1234
Google Search Console In Hindi

Google Search Console In Hindi

नई प्रॉपर्टी जोड़ना

नई प्रॉपर्टी जोड़ने के लिए:

Google Search Console In Hindi

  1. Search Console के किसी भी पेज पर, प्रॉपर्टी चुनने के लिए बना ड्रॉपडाउन मेन्यू खोलें.
  2. ड्रॉपडाउन मेन्यू में + प्रॉपर्टी जोड़ें चुनें.
  3. जोड़ने के लिए प्रॉपर्टी का प्रकार चुनें:
    1. यूआरएल-प्रीफ़िक्स प्रॉपर्टी
    2. डोमेन प्रॉपर्टी
    3. Google पर होस्ट होने वाली प्रॉपर्टी
  4. आपको प्रॉपर्टी की पुष्टि करने के तरीके में से किसी एक तरीके को चुनने का विकल्प दिया जाएगा. जब आप Search Console में पुष्टि करने के लिए कोई तरीका चुनते हैं, तो चुने गए तरीके को पूरा करने के लिए आपको ज़रूरी कदम दिखाए जाते हैं. आप तुरंत पुष्टि कर सकते हैं या अपनी सेटिंग सेव करके बाद में प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं:
    • तुरंत पुष्टि करने के लिए, पॉप-अप विंडो को बंद किए बिना पुष्टि करने के बताए गए तरीकों का पालन करें और फिर पॉप-अप विंडो में पुष्टि करें पर क्लिक करें. अगर आपको पुष्टि करने में ज़्यादा समय लग रहा है, तो आप जब चाहें अपनी सेटिंग सेव कर सकते हैं और प्रक्रिया को बाद में फिर से शुरू कर सकते हैं.
    • प्रक्रिया को रोकने और बाद में पूरी करने के लिए, अपनी मौजूदा स्थिति को सेव करें. आप बाद में पुष्टि करें पर क्लिक करके अपनी मौजूदा स्थिति सेव कर सकते हैं. इसके बाद, पॉप-अप बंद कर दें और जब चाहें अपनी साइट की पुष्टि करें. पुष्टि करने के ज़रूरी कदमों को पूरा करने के बाद, नेविगेशन बार में प्रॉपर्टी चुनने वाले मेन्यू से सेव की गई प्रॉपर्टी (जिसकी पुष्टि नहीं हुई है) चुनकर पुष्टि की प्रक्रिया पूरी करें. इसके बाद, पुष्टि करें चुनें.
  5. कुछ दिनों के बाद आपकी प्रॉपर्टी में डेटा दिखाई देने लगेगा. Search Console खाते में प्रॉपर्टी जुड़ने के साथ ही, प्रॉपर्टी का डेटा इकट्ठा होना शुरू हो जाता है. यह प्रक्रिया प्रॉपर्टी की पुष्टि किए जाने से पहले ही शुरू हो जाती है. जब तक उपयोगकर्ता के खाते में कोई प्रॉपर्टी मौजूद रहती है तब तक उसका डेटा इकट्ठा होने की प्रक्रिया जारी रहती है. इसके लिए प्रॉपर्टी के मालिकाना हक की पुष्टि होनी ज़रूरी नहीं है. पुष्टि करने के कई दिन बाद भी अगर प्रॉपर्टी में डेटा नहीं दिखाई देता है, तो हो सकता है कि ‘Google सर्च’ के नतीजों में आपकी साइट दिखाई न दे रही हो. यह भी हो सकता है कि आपने Search Console में प्रॉपर्टी का यूआरएल डालने में कोई गलती की हो. उदाहरण के लिए, आपने यूआरएल-प्रीफ़िक्स प्रॉपर्टी के यूआरएल में एचटीटीपी की जगह एचटीटीपीएस डाल दिया हो.

प्राॅपर्टी के यूआरएल में गैर-लैटिन वर्ण का इस्तेमाल करनाSearch Console पर इंटरनैशनलाइज़िंग डोमेन नेम्स इन ऐप्लिकेशन्स (आईडीएनए) साइट यूआरएल की तरह काम करते हैं. आप अपनी साइट का डोमेन नाम सामान्य तरीके से टाइप करें और Search Console में यह सही तरीके से दिखाई देगा. उदाहरण के लिए, अगर आप प्रॉपर्टी जोड़ें बॉक्स में http://bücher.example.com/ टाइप करते हैं, तो यह सही तरीके से दिखाई देगा.

First Video On Youtube

किसी प्रॉपर्टी को फिर से जोड़ना

आप हटाई गई उस प्रॉपर्टी को फिर से जोड़ सकते हैं जिसे आपने पुष्टि करने से पहले हटा दिया था. हालांकि, इसके लिए उस प्रॉपर्टी का ऐसे व्यक्ति के पास होना ज़रूरी है जिसके मालिकाना हक की पुष्टि हो चुकी है.

प्रॉपर्टी को फिर से जोड़ने के लिए, ऊपर बताए गए कदम 1 से 3 का इस्तेमाल करके प्रॉपर्टी जोड़ें. प्रॉपर्टी जोड़ने पर उसके मालिकाना हक की पुष्टि अपने आप हो जाएगी.

Google Search Console In Hindi – Google Search Console Kya hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *