Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020

नमस्कार दोस्तों, आज हम इस आर्टिकल Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020 में चर्चा करेंगे कि हम दीपावली क्यों मनाते हैं? Diwali kyo manai jati hai ? तथा इसकी Importance के बारे भी बात करेंगे|

Diwali kyo manai jati hai ? Festival, history, reason, importance in hindi 2020

चलिये बिना किसी देरी के शुरू करते हैं दीपावली के बारे में पूरी जानकारी, जैसे दीपावली क्यों मनाई जाती है?(Diwali kyo manai jati hai?), दीपावली क्या है?(what is Deepawali in hindi), दीपावली का क्या इतिहास है(History of Deepawali in hindi)? दीपावली मानाने का महत्त्व क्या है(Importance of Deepawali in hindi).

Also Read: Amazing Facts About India In Hindi

What is Deepawali Festival In Hindi? Diwali kyo manai jati hai ? Festival, history, reason, importance in hindi 2020

दीपावली(Deepawali) या दीवाली शरद ऋतु में प्रतिवर्ष मनाया जाने वाला एक बहुत ही प्राचीन ओर महत्वपूर्ण हिन्दू त्यौहार है। दीपावली को दीपों(दीपक) का त्योहार भी कहा जाता है। मुख्यरूप से यह त्यौहार Deepawali Festival ‘अन्धकार पर प्रकाश की तथा असत्य पर सत्य की ‘विजय’ को दर्शाता है। भारतवर्ष में मनाए जाने वाले सभी त्यौहारों में से दीपावली का सामाजिक और धार्मिक दोनों ही दृष्टि से बाकि त्यौहारों से अधिक महत्त्व है।

Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020
Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020

भारतवर्ष में मनाए जाने वाले सभी त्यौहारों में दीपावली का सामाजिक और धार्मिक दोनों दृष्टि से अत्यधिक महत्त्व है क्योंकि सिर्फ़ हिन्दू धर्म के लोग ही इस त्यौहार को नहीं मनाते, इस त्यौहार को सिख, बौद्ध तथा जैन धर्म के लोग भी मनाते हैं। जैन धर्म के लोग इस त्यौहार को महावीर के मोक्ष दिवस के रूप में तथा सिख समुदाय इसे बन्दी छोड़ दिवस के रूप में मनाता है। इस तरह कहा जा सकता है कि ये त्यौहार सबसे अधिक महत्त्व रखता है|

दिवाली का त्योहार हमारे देश के लोगों के जीवन में काफी महत्व रखता है और ये त्योहार हर साल अक्टूबर या नवंबर के महीने में आता है. इस दिन लोग अपने घरों को रोशन करतें हैं और धन कि देवी माता लक्ष्मी और गौरी पुत्र भगवान गणेश की पूजा करते हैं. इस त्योहार का अवकाश भारत के अलावा भी कई राष्ट्रों में घोषित किया गया है.

Diwali kyo manai jati hai ? दीपावली क्यों मनाई जाती है?

दीपावली मानाने के पीछे बहुत से पौराणिक कथाएँ तथा मान्यता है|इसी कारण हमारे देश के विभिन्न हिस्सों में diwali मनाने के तरीके भी अलग-अलग है|सभी मान्यताओं तथा कथाओं के बारे में जानते है कि Diwali kyo manai jati hai ?

Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020
Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020

भगवान राम के अयोध्या लौटने की ख़ुशी में

माना जाता है कि जब भगवान श्रीराम सीतामाता व अपने भाई लक्ष्मण के साथ अयोध्या लौटे तब वहाँ के लोगों द्वारा भगवान श्रीराम का भव्य स्वागत किया गया और दीप जलाकर आतिशबाजी कि गई तब से दीपावली का पर्व बड़े धूमधाम से मनाया जाता है|

क्योंकि भगवान श्रीराम अपना 14 वर्ष का वनवास पूर्ण करके तथा लंकापति रावण को हराकर माता सीता को अपने साथ लेकर आये तथा इस पूर्ण घटनाक्रम में उनके भाई लक्ष्मण ने भी भगवान श्रीराम का पूरा सहयोग किया तथा भगवान् श्रीराम सीतामाता व अपने भाई लक्ष्मण के साथ पुनः अयोध्या लौटे|

Diwali kyo manai jati hai? Festival, history, reason, importance in hindi 2020
Diwali kyo manai jati hai ? Festival, history, reason, importance in hindi 2020

यह सब जानने के बाद अयोध्यावासी बहुत प्रसन्न हुए तथा उन्होंने उस दिन को यादगार बनाने के लिए पूरी अयोध्या नगरी को दीपों से सजा दिया तथा भव्य स्वागत किया गया भगवान श्रीराम, सीतामाता व लक्ष्मण का|ओर उस दिन को एक त्यौहार कि भांति मनाया गया|

Also Read: Top 10 Tourist Places Of Udaipur In Hindi

शक्ति ने धारण किया था महाकाली का रूप (Diwali kyo manai jati hai ? Festival, history, reason, importance in hindi 2020)

जब राक्षसों का वध करने के बाद भी महाकाली का क्रोध कम नहीं हो रहा था तब उन्हें शांत करने के लिए स्वयं भगवान महादेव उनके चरणों में लेट गए थे| तब भगवान शिव के शरीर के स्पर्श से महाकाली का क्रोध शांत हो गया|

इसी कि याद में शक्ति के शांत रूप महालक्ष्मी जी कि पूजा अर्चना कि जाती है तथा इसी रात माता शक्ति के रौद्र रूप महाकाली कि पूजा का भी प्रावधान है|

हिरण्यकश्यप के वध कि ख़ुशी में

पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान श्री विष्णु ने हिरण्यकश्यप का वध किया था भगवान नृसिंह का का रूप धारण कर के|ओर इस ख़ुशी के लिए वहाँ कि प्रजा ने सम्पूर्ण राज्य में घी के दिये जलाकर दीपावली मनाई थी|

लक्ष्मी मां का जन्मदिन श्री विष्णु और माता लक्ष्मी के विवाह के जश्न के रूप में

इस दिन माता लक्ष्मी का जन्म हुआ था और उनका विवाह भी भगवान श्री विष्णु से इसी दिन हुआ था इसलिए कहा जाता है कि प्रतिवर्ष माता लक्ष्मी और भगवान श्री विष्णु की शादी का जश्न हर कोई अपने घरों को रोशन करके diwali के रूप में मनाता है|

जैन समुदाय के लिए विशेष दिन

जैन समुदाय के लिए भी यह दिन विशेष दिन है क्योंकि इनके आराध्य तथा आधुनिक जैन धर्म के संस्थापक महावीर स्वामी कार्तिक मास की अमावस्या की रात्री के समय ही निर्वाण को प्राप्त हुए थे, निर्वाण के समय भगवान महावीर स्वामी की आयु 72 वर्ष की थी| दीपावली के दिवस पर ही जैन धर्म के संस्थापक महावीर स्वामी ने निर्वाण प्राप्त किया था इसलिए यह दिन जैन धर्म के लिए भी महत्वपूर्ण बन गया|

सिक्ख धर्म मानने वालों के लिए विशेष दिन

Diwali के दिन को सिक्ख धर्म के गुरु अमर दास ने रेड-लेटर डे के रूप में संस्थागत किया था, जिसके बाद से सभी सिक्खधर्म के लोग, अपने गुरु का आशीर्वाद इसी दिन प्राप्त करते है तथा साल 1577 में दीपावली के दिन ही अमृतसर के विश्वविख्यात स्वर्ण मंदिर की आधारशिला भी रखी गई थी|इसीलिए यह दिन सिक्खों के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है|

हिंदू नववर्ष का दिन

दीपावली के साथ ही हिंदू व्यापारियों का नया वर्ष भी शुरू हो जाता है और व्यापारी इस दिन अपने लेन – देन के खातों के लिए नई किताबें या खाते शुरू करते हैं| नए साल को शुरू करने के पहले अपने सभी ऋणों का भुगतान करते हैं जिससे कि उन्हें नई शुरुआत मिल सके|

Diwali मनाने का महत्व Importance Of Diwali Festival

Diwali त्योहार अंधकार पर प्रकाश तथा बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है और ये दिन लोगों को याद दिलाता है कि अंततः सच्चाई और भलाई की ही हमेशा जीत होती है| जूठ कितना भी शक्तिशाली हो लेकिन उसको एक दिन सत्य के आगे जुकना ही पड़ता है|

Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020
Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020

Diwali के दिन लक्ष्मी मां की पूजा करना बहुत महत्वपूर्ण होता है, ऐसा माना जाता है कि अगर सच्चे मन से Diwali के दिन महालक्ष्मी की पूजा की जाए तो घर में कभी पैसों की कमी नहीं होती है तथा हमेशा सुख-शान्ति बनी रहती है|

Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020
महालक्ष्मी पूजन mahalakshmi poojan diwali

इस अवसर पर लोग अपने परिवार के सदस्यों तथा मित्रों में उपहारों का आदान प्रदान करते हैं और मिठाई से एक-दूसरे का मुंह मीठा करवाते हैं|ऐसा करने से सभी के बीच प्यार बना रहता है तथा ये त्योहार लोगों को आपस में जोड़कर रखने का कार्य भी करता है|

Conclusion On Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020

तो दोस्तों अप आपको पता चल गया होगा कि Diwali kyo manai jati hai तथा Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020 दिवाली सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में भी आपको जानकारी मिल गई होगी| इस तरह कहा जा सकता है कि diwali एक बहुत महत्वूर्ण त्यौहार है|

दोस्तों आपको हमारा यह आर्टिकल Diwali kyo manai jati hai दीवाली क्यों मनाई जाती है Diwali Festival, history, reason, importance in hindi 2020 कैसा लगा comment करके जरुर बताएं तथा आपको पसंद आये तो जरूर social media के माध्यम से इसे share करें|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *