Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

नमस्कार दोस्तों, आज हम इस आर्टिकल (Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi, MDH Owner, Age, Net Worth, Family, Death) में Mahashay Dharampal Gulati के सम्पूर्ण जीवन के बारे में विस्तार से जानकारी share करने वाले हैं|

India की दिग्गज मसाला कंपनी महाशिया दी हट्टी (MDH) के Owner Mahashay Dharampal Gulati का दिनांक 12/03/2020 को Heart Attack कि वजह से निधन हो गया है। 98 वर्षीय Mahashay Dharampal Gulati कोरोना से संक्रमित हुए थे लेकिन कोरोना से ठीक हो जाने के बाद उनका निधन हो गया है।

Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

Mahashay Dharampal Gulati को व्यापार और उद्योग में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए पद्मभूषण से नवाजा गया था। महाशय धर्मपाल की जीवनी (Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi) करोड़ों युवाओं को प्रेरित करने वाली है। दिल्ली में तांगा चला कर कड़ी मेहनत और लगन से देश की सबसे बड़ी मसाला कंपनी के मालिक बने थे।

Who is Mahashay Dharampal Gulati In Hindi

Mahashay Dharampal Gulati
Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

मसालों की दुनिया के बेताज बादशाह “मसाला किंग” कहे जाने वाले बुजु्र्ग Mahashay Dharampal Gulati पूरी दुनिया में अपने मसालों के जायकों के लिए पहचान जाते है|मसाला किंग की जिंदगी में काफी उतार-चढ़ाव रहे| Mahashay Dharampal Gulati के पिता महाशय चुन्नीलाल की सियालकोट (पाकिस्तान) में ‘महाशय दी हट्टी’(MDH) नाम से दुकान थी तथा भारत-पाकिस्तान के बंटवारे के समय परिवार सियालकोट से दिल्ली के करोलबाग में आकर बस गया था|

Also Read: Narendra Modi Biography in hindi

Early Life Of Mahashay Dharampal Gulati In Hindi

महाशय धर्मपाल गुलाटी का जन्म Birth of Dharampal Gulati

महाशय धर्मपाल गुलाटी का जन्म सियालकोट (पाकिस्तान) के मोहल्ला मियानपुरा में 27 मार्च, 1923 को हुआ| महाशय धर्मपाल गुलाटी के पिता महाशय चुन्नीलाल मिर्च-मसालों की एक छोटी सी दुकान चलाते थे, जिसका नाम महाशियां दी हट्टी था|उस समय सियालकोट के बाजार पंसारिया में मसालों की दुकान पूरी तरह से जम चुकी थी| उस वक्त पूरे सियालकोट में उनकी देगी मिर्च की ही धूम थी. महाशय चुन्नीलाल के परिवार में उनकी पत्नी तथा 5 बेटियां व 3 बेटे थे|

पाकिस्तान से भारत आए थे महाशय धर्मपाल

जब Dharmapal पाकिस्तान से करोलबाग(दिल्ली) पहुंचे थे तब उनकी जेब में मात्र 1500 रुपये ही थे. पिता से मिले इन 1500 रुपये में से 650 रुपये का Dharampal Gulati ने एक घोड़ा और तांगा खरीद लिया और इस तरह Dharampal Gulati, शुरू में एक तांगवाला बन गए व इसी कि सहायता से अपना जीवन-यापन करने लगे|

वे अपना तांगा दिल्ली के कुतुब रोड पर चलाया करते थे| पर इनकी किस्मत तो इनको कहीं ओर ही ले जाना चाहती थी तथा इस काम में महाशय का मन भी ज्यादा दिन तक नहीं लगा और उन्होंने अपने पुश्तैनी व्यापार मिर्च मसालों के धंधे को जिसका नाम महाशियां दी हट्टी था को फिर से शुरू करने का मन बना लिया जो आज मसालों की दुनिया में MDH के नाम से एक बहुत बड़ा Brand बन चुका है|

वर्ष 1933 में, जब उन्होंने 5 वीं कक्षा पूरी करने से पहले स्कूल छोड़ा था| तब सात साल के धर्मपाल का मन पढ़ाई में तो कम पतंगबाजी और कबूतरबाजी में ज्यादा लगता था|महाशय धर्मपाल को पहलवानी का भी शौक था. 1937 में, उन्होंने अपने पिता की मदद से एक छोटा सा व्यवसाय स्थापित किया और बाद में साबुन व्यापार और अनेको नौकरिया की और व्यापार भी किये पर इनमें से किसी भी व्यवसाय में उनका मन नहीं लगा| इसके बाद वे अपने पिता के व्यवसाय में ही उनका हाथ बंटाने लग गये|

Short Information About Mahashay Dharampal Gulati In Hindi

पूरा नामMahashay Dharampal Gulati
प्रचलित नाममसाला किंग, MDH वाले बाबा, दादाजी
जन्म27 मार्च 1923
मृत्यु03 दिसम्बर 2020
जन्म स्थाननवसारी, सियालकोट (पाकिस्तान)
पितामहाशय चुनीलाल
माताचानना देवी
पत्नीलीलावती
Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

महाशय धर्मपाल का वैवाहिक जीवन Married Life Of Dharampal Gulati

देश में चारों तरफ जब आजादी का आंदोलन पूरे उफान पर था. उस दौर में 18 बरस की कम उम्र में ही Dharampal Gulati का विवाह लीलावती के साथ हो गया था| शादी के बाद नई जिम्मेदारी को भी Dharampal Gulati ने अच्छे से निभाया|सन 1992 में महाशय धर्मपाल की पत्नी लीलावती का निधन हो गया|

Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi
Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

Net Worth Of Dharampal Gulati

हुरुन इंडिया रिच 2020 की List में Dharampal Gulati को भारत के सबसे बुजुर्ग अमीर व्यक्ति बताया गया। वहीं, ओवर आल देखें तो, वो 216वें स्थान पर थे। यूरोमॉनिटर के According तो FMCG सेक्टर में Dharampal Gulati को सबसे अधिक वेतन पाने वाले CEO बताया गया था। सालाना 2017 के अनुसार धर्मपाल गुलाटी को 25 करोड़ सैलरी मिलती थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार Dharampal Gulati की कुल संपत्ति ₹5400 करोड़ के लगभग है।

Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

Car Collection of Dharampal Gulati

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार Dharampal Gulati के पास कई सारी Luxury Cars हैं। इनके car collection में Rolls Royce Ghost जिसकी कीमत लगभग 6.21 करोड़ रुपये है, वो भी शामिल है। इसके अलावा Chrysler 300 C limousine, Innova Crysta, Jensen Interceptor जैसी गाड़ियां भी शामिल हैं।

Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi
Dharampal Gulati with Chrysler 300 C limousine, source: livebavaal

तांगा चलाने से लेकर मसालों के बादशाह (MDH) बनने तक का सफ़र

भारत-पाकिस्तान विभाजन के समय सियालकोट का ये परिवार जब भारत आया तो इनके पास कुछ भी नहीं था|दिल्ली पहुंचने के बाद साल 1948 में धर्मपाल ने तांगा ख़रीदा लेकिन 2 महीने के बाद ही तागे का धंधा छोड़ कर करोलबाग की अजमल खां रोड पर एक छोटी सी दुकान बना ली|

Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

MDH Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi, MDH Owner, Age, Net Worth, Family, Death
source: mdhspices

सियालकोट की एक बड़ी दुकान से उठ कर अब धर्मपाल का पूरा परिवार एक छोटे से खोखे में आ गया था. मेहनती और व्यापार में निपुण धर्मपाल ने अखबारों में विज्ञापन देने शुरु क्र दिए “सियालकोट की देगी मिर्च वाले अब दिल्ली में है” जैसे-जैसे लोगों को पता चला वैसे-वैसे धर्मपाल का कारोबार तेजी से पुनः फैलने लगा और 60 का दशक आते-आते तो महाशियां दी हट्टी करोलबाग में मसालों की एक मशहूर दुकान बन गई थी|

अब धर्मपाल ने मसाले खुद ही पीसने का निर्णय कर लिया लेकिन ये काम इतना भी आसान नहीं था क्योंकि बेचने का काम आसान था लेकिन फिर महाशय की ये मुश्किल ही उनकी कामयाबी की वजह बनी| गुलाटी परिवार ने साल 1959 में दिल्ली के कीर्ति नगर में मसाले तैयार करने की अपनी पहली फैक्ट्री कि शुरुआत की थी|

Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

MDH Mahashay Dharampal Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi, MDH Owner, Age, Net Worth, Family, Death
Padma Bhushan to Mahashay Dharampal Gulati
source:twitter

Also Read: What is Krishi Bill 2020 In Hindi

Social Work By Dharampal Gulati महाशय धर्मपाल गुलाटी द्वारा सामाजिक कार्य

साल 1975 में, सुभाष नगर, नई दिल्ली में एक छोटे 10 बिस्तरों का अस्पताल शुरू किया| समाज सेवा के अपने इसी काम को आगे बढ़ाते हुए महाशय ने, महाशय धर्मपाल के एक ट्रस्ट के जरिये दिल्ली में स्कूल, अनाथ आश्रम, अस्पताल, गौशाला और अनेक सामाजिक काम किये|

Death Of Dharampal Gulati-Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

India की दिग्गज मसाला कंपनी महाशिया दी हट्टी (MDH) के Owner Mahashay Dharampal Gulati का दिनांक 12/03/2020 को Heart Attack कि वजह से निधन हो गया है। 98 वर्षीय Mahashay Dharampal Gulati कोरोना (covid-19) से संक्रमित हुए थे लेकिन कोरोना से ठीक हो जाने के बाद उनका निधन हो गया।

Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Mahashay Dharampal Gulati Biography In hindi पसंद आया होगा|comment करके जरूर बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा|

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *